Motivational

ना कोई जंतर ना कोई तंत्र ना ही कोई मंत्र चाहता हूं…
भोले बस मैं तुमको, खुद के अन्दर चाहता हूं !
-VKD

18 thoughts on “Motivational”

  1. दूर उस आकाश की गहराईयों में एक नदी से बह रहे हैं आदि योगी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.